क्षेत्रीय

सुरेंद्र सिंह हत्याकांड: अंतिम यात्रा में शामिल होकर स्मृति ईरानी ने अर्थी को दिया कन्धा

हेडिंग में संशोधन के साथ पुनः जारी......


अमेठी, 26 मई (हि.स.)। स्मृति ईरानी की जीत के दो दिन बाद उनके करीबी नेता एवं पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के समय प्रधान घर के बाहर ही सो रहे थे। सांसद स्मृति ईरानी सुरेंद्र सिंह की हत्या से शोक में डूबे परिवार से मिलने रविवार को अमेठी पहुंची। अंतिम यात्रा में शामिल होकर ईरानी ने बीजेपी कार्यकर्ता की अर्थी को कंधा भी दिया। गोली लगने के बाद आनन-फानन में परिजन उन्हें लेकर जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। हालत नाजुक देख डाक्टरों ने उन्हें ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया। वहां पहुंचते ही उनकी मौत हो गई। प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने कहा कि बीती रात से अभी तक अमेठी पुलिस ने सात लोगों को हिरासत में लिया है। कुछ और लोगों पर भी शक है, जिनको हिरासत में लेकर पूछताछ की जाएगी। उन्होंने कहा कि पुलिस बहुत जल्द ही भाजपा नेता सुरेन्द्र सिंह की हत्या में शामिल लोगों को गिरफ्तार किया जायेगा। उनके कार्यालय से पूरे मामले की निगरानी की जा रही है और वह स्वयं भी हर गतिविधि पर नजर बनाए हुए हैं। किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना ना होने पाये, इसके लिए पुलिस अधीक्षक अमेठी को निर्देशित किया गया है। हमें विश्वास है कि अगले 12 घंटे में केस की गुत्थी सुलझा ली जाएगी। पीएसी की तीन कंपनियां तैनात की गई हैं। कानून व्यवस्था का कोई मुद्दा नहीं है। 

मृतक सुरेश सिंह के बेटे का कहना है कि स्मृति ईरानी के चुनाव प्रचार से लेकर जीत दिलाने तक में उनके पिता की अहम भूमिका थी जिससे कांग्रेसी कार्यकर्ता नाराज दिख रहे थे। जीत के बाद जब जश्न का माहौल था तो कुछ लोगों ये पसंद नहीं आ रहा था जिसके कारण ही उनकी हत्या की गई है। 

 हिन्दुस्थान समाचार/असगर/सुनीत

...