ट्रेंडिंग

झारखंडः नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में तीन जवानों को लगी गोली, बम विस्फोट कर सुरक्षाकर्मियों की बस उड़ाने की कोशिश

20/05/2019

राजीव
दो घायल जवानों को जमशेदपुर के एमजीएम अस्पताल तथा एक को रिम्स भेजा गया


जवानों को भारी पड़ता देख जंगल की ओर भागे निकले नक्सली, सर्च अभियान जारी


रांची, 20 मई (हि.स.)। झारखंड के सरायकेला जिले में नक्सलियों ने पुलिसकर्मियों के वाहन को बम विस्फोट कर उड़ाने की कोशिश की। इन वाहनों पर नक्सलियों ने लगातार फायरिंग की। सुरक्षाकर्मियों की जवाबी कार्रवाई में नक्सली जंगल की तरफ भाग खड़े हुए। इस दौरान तीन सुरक्षाकर्मियों को गोली लगी है जिन्हें दो अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। 
सरायकेला जिले के कुचाई थानांतर्गत हुडंगा के पास स्थित सुरू सिंचाई परियोजना डैम की सुरक्षा के लिए जा रहे पुलिसकर्मियों की गाड़ी पर सोमवार सुबह करीब 9.30 बजे नक्सलियों ने हमला कर दिया। नक्सलियों ने पहले दो बम विस्फोट कर सुरक्षाकर्मियों से भरी बस को उड़ाने की कोशिश की। इसके बाद बस पर फायरिंग करने लगे। जवाबी कार्रवाई के लिए सुरक्षाबल के जवानों ने भी मोर्चा संभाल लिया। पुलिस और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में दोनों ओर से कई राउंड फायरिंग हुई। पुलिस बल को भारी पड़ता देख नक्सली जंगल की ओर भाग गये।
मुठभेड़ में सैप के दो जवान और एक जिला पुलिस बल का पुलिसकर्मी घायल हुआ है। दो घायल जवानों हरेराम सिंह और माखन सिंह को इलाज के लिए जमशेदपुर स्थित एमजीएम भेजा गया है तथा जिला पुलिस बल के कृष्णा कुदादा को रिम्स रेफर कर दिया गया। मुठभेड़ के बाद इलाके में सर्च अभियान चलाया जा रहा है।
घायल जवानों ने बताया कि हुडंगा स्थित सिंचाई परियोजना का काम चल रहा है। पूर्व में वहां नक्सलियों ने मजदूरों और ठेकेदारों के साथ मारपीट कर उन्हें डराया-धमकाया था। प्रोजेक्ट का काम सुचारू रूप से चले इसलिए वहां जवानों को तैनात किया गया था। जवान बस से रोजाना सुबह जाते थे और शाम को वापस लौट जाते थे। सोमवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे जवान बस से सिंचाई परियोजना की ओर जा रहे थे। इसी दौरान नक्सलियों ने बस पर हमला कर दिया। घटना में दो सैप जवान हरेराम सिंह और माखन सिंह तथा एक जिला पुलिस बल के कृष्णा कुदादा को गोली लगी है। 
हरेराम बिहार के आरा तथा माखन सिंह जहानाबाद के रहनेवाले हैं। कृष्णा चाईबासा के रहने वाले हैं। तीनों घायलों को इलाज के लिए खरसावां सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां से डॉक्टरों ने बेहतर इलाज के लिए दो को जमशेदपुर स्थित एमजीएम हॉस्पिटल तथा एक को रिम्स भेज दिया। घटनास्थल पर एसडीपीओ अविनाश कुमार पुलिस बल के साथ पहुंच गए हैं। नक्सलियों की धर-पकड़ के लिए सर्च अभियान जारी है।
हिन्दुस्थान समाचार