क्षेत्रीय

Blog single photo

कटिहार जिला में आर्थिक हल, युवाओं को बल योजना लक्ष्य से कोसों दूर

15/05/2019

विनोद
कटिहार, 15 मई (हि.स.)। मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना का एक निश्चय "आर्थिक हल, युवाओं को बल" है। इसके अंतर्गत तीन महत्वपूर्ण योजनाओं में मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं भत्ता योजना, बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड एवं कुशल युवा कार्यक्रम योजना का लाभ कटिहार के गरीब छात्र व बेरोजगार युवकों को जिस रफ्तार से मिलना चाहिए नही मिल पा रहा है।
वित्तीय वर्ष 2018-19 के रैंकिंग प्रतिवेदन आकड़ो पर गौर करें तो बिहार के 38 जिलों में कटिहार 26वें पायदान पर रहा, जबकि टॉप टेन में नालंदा पहले नंबर पर, पूर्णियां दूसरे, दरभंगा तीसरे, किशनगंज चौथे, पश्चिम चंपारण पाचवें, पटना छठे, रोहतास सातवें, बेगूसराय आठवें, जहानाबाद नवें तथा सुपौल दसवें पायदान पर रहा।
इस योजना के तहत वैसे गरीब छात्र/छात्रायें जो इच्छा के बावजूद पैसे की कमी के कारण उच्च शिक्षा हासिल नहीं कर पाते हैं ऐसे ही विद्यार्थियों की मदद के लिए बिहार की सरकार ने बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना (BSCCS) 02 अक्टूबर 2016 को लॉन्च की ।
इस योजना का लाभ ऐसे विद्यार्थी उठा सकते हैं, जो 12वीं की परीक्षा पास कर चुके हैं उन्हें आगे की पढ़ाई के लिए चार लाख तक का ऋण बैंक से मिलता है। इसके लिए सरकार खुद ग्रांटर बनती है। कटिहार जिला में वित्तीय वर्ष 2018-19 तक सरकार का लक्ष्य 16,983 विद्यार्थियों को इस योजना का लाभ देना था। लेकिन सरकारी उदासीनता के कारण जिला निबंधन सह परामर्श केंद्र, कटिहार में कुल 1,537 विद्यार्थियों ने आवेदन दिया था जिसमें सिर्फ 1,341 आवेदकों को इस योजना के लिए स्वीकृति मिल पाई।

इसी तरह युवाओं को रोजगार के लिए सक्षम बनाने के मकसद से बिहार सरकार ने 'कुशल युवा प्रोग्राम" (KYP) शुरू किया है। 10वीं और 12वीं परीक्षा पास कर चुके विद्यार्थी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
बिहार सरकार का मानना है कि प्रदेश के युवा मेधावी होने के बावजूद कंप्यूटर और अंग्रेजी की समझ कम होने से प्रतियोगिता में पिछड़ जाते हैं। यही वजह है कि KYP कार्यक्रम में इन्हीं चीजों पर जोर दिया जाता है। इससे इंटरव्यू में उन्हें अच्छा प्रदर्शन करने में मदद मिलेगी। योजना का लाभ उठाने के लिए स्टूडेंट की उम्र 15 से 25 साल के बीच होनी चाहिए। एससी और एसटी के लिए उम्र सीमा 30 साल, ओबीसी के लिए 28 साल और दिव्यांग के लिए 30 साल है। कुशल युवा कार्यक्रम के वित्तीय वर्ष 2018-19 के रैंकिंग प्रतिवेदन आकड़ो के अनुसार बिहार के 38 जिलों में कटिहार 16 वें पायदान पर रहा, जबकि टॉप टेन में रोहतास पहले पायदान, बेगूसराय दूसरे, शेखपुरा तीसरे, लखीसराय चौथे, समस्तीपुर पाचवें, कैमूर छठे, सिवान सातवें, मधेपुरा आठवें, बक्सर नवें तथा सहरसा दसवें स्थान पर रहा।
कटिहार जिला में वित्तीय वर्ष 2018-19 तक सरकार का लक्ष्य 42,950 विद्यार्थियों को इस योजना का लाभ देना था। लेकिन कटिहार जिला से कुल 22,129 विद्यार्थियों ने आवेदन दिया था जिसमें 22,044 आवेदकों को इस योजना के लिए स्वीकृति मिल पाई।

आर्थिक हल युवाओं को बल योजना में तीसरा "मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं भत्ता योजना" की भी रफ्तार कटिहार जिले में लक्ष्य से काफी पीछे है। इस योजना के तहत 20 से 25 वर्ष के पढ़े लिखे बेरोजगार युवाओं को रोजगार तलाशने के दौरान सहायता के तौर पर एक हजार रुपये प्रतिमाह की दर से स्वयं सहायता भत्ता दो वर्षों के लिए दी जाती है। वित्तीय वर्ष 2018-19 के रैंकिंग प्रतिवेदन आकड़ो के अनुसार बिहार के 38 जिलों में कटिहार 21 वें पायदान पर रहा, जबकि टॉप टेन में शिवहर पहले, किशनगंज दूसरे, खगड़िया तीसरे, सिवान चौथे, बक्सर पाचवें, सीतामढ़ी छठे, सुपौल सातवें, पूर्वी चंपारण आठवें, जहानाबाद नवें तथा नालंदा जिला रैंकिंग में दसवें पायदान पर रहा। कटिहार जिला में वित्तीय वर्ष 2018-19 तक सरकार का लक्ष्य 63,651 विद्यार्थियों को इस योजना का लाभ देना था। लेकिन कटिहार जिला से कुल 6,942 विद्यार्थियों ने आवेदन दिया था जिसमें 5,047 आवेदकों को इस योजना के लिए स्वीकृति मिल पाई है।
हिन्दुस्थान समाचार


 
Top