राष्ट्रीय

Blog single photo

एबीवीपी के छात्र सम्मेलन में सहयोगी बना एनआईटी सूरत, एसएफआई ने जताई आपत्ति

10/09/2019

सुशील बघेल

नई दिल्ली, 10 सितंबर (हि..)। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) आगामी 14-15 सितंबर को सरदार वल्लभभाई राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एसवीएनआईटी) सूरत के सहयोग से ऑल इंडिया एनआईटी स्टूडेंट्स कान्फ्रेंस-2019 का आयोजन कर रहा है।

छात्र संगठन के कार्यक्रम में सरकारी शिक्षण संस्थान के सहयोगी बनने पर स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) ने आपत्ति जताते हुए एनआईटी से स्वयं को इस कार्यक्रम से अलग करने और संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। एबीवीपी का मानना है कि छात्रों के विकास के लिए आयोजित होने वाले किसी कार्यक्रम में एनआईटी द्वारा सहयोग करने में कुछ भी गलत नहीं है।

एबीवीपी की राष्ट्रीय प्रवक्ता मोनिका चौधरी ने मंगलवार को इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि एबीवीपी एक प्रसिद्ध और बहुत पुराना छात्र संगठन है। यह केवल मात्र छात्रों के विकास के लिए एक सम्मेलन है और कुछ नहीं। यह कहां लिखा है कि एक छात्र संगठन जिसका मुख्य एजेंडा राष्ट्रवाद हैवह किसी संस्थान के सहयोग से छात्रों के लिए सम्मेलन आयोजित नहीं कर सकता है।

एसएफआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीपी सानू ने कहा कि केंद्रीय कार्यकारी समिति के संज्ञान में आया है कि एबीवीपी और राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थानसूरतगुजरात (एनआईटी सूरत) संयुक्त रूप से अखिल भारतीय एनआईटी छात्र सम्मेलन का आयोजन कर रही है। यह बेहद शर्मनाक और निंदनीय है कि एनआईटी सूरत राष्ट्रीय महत्व का संस्थान होने के बावजूद एबीवीपी का मंच बन रहा है। इससे देश में शिक्षण संस्थानों के भगवाकरण करने के भाजपा का एजेंडा फिर से सामने आया है।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top