ब्रजेश झा

नई दिल्ली, 07 अप्रैल (हि.स)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को ‘परीक्षा पर चर्चा’ कार्यक्रम में कहा कि परीक्षा जीवन के सपनों का अंत नहीं है, बल्कि खुद को जीवन की कसौटी पर कसने का अवसर है।


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि यह 'परीक्षा पर चर्चा' का पहला वर्चुअल एडिशन है। हम पिछले एक साल से कोरोना के बीच जी रहे हैं और उसके कारण हर किसी को नया इनोवेशन करना पड़ रहा है। मुझे भी आप लोगों से मिलने का मोह इस बार छोड़ एक नए फॉर्मेट में आपके बीच आना पड़ रहा है।

 

उन्होंने कहा कि 'परीक्षा पे चर्चाकार्यक्रम सिर्फ परीक्षा की ही चर्चा नहीं है! बहुत कुछ बातें हो सकती हैंएक नए आत्मविश्वास पैदा करना है। 


हिन्दुस्थान समाचार

You Can Share It :