राष्ट्रीय

Blog single photo

उग्रवादी संगठन एनएलएफटी के 88 सदस्यों ने किया आत्मसर्पण

13/08/2019

अरविंद कुमार राय

अगरतला, 13 अगस्त (हि.स.)। हिंसा के रास्ते को छोड़कर देश की मुख्य धारा में शामिल होने के लिए त्रिपुरा के प्रमुख उग्रवादी संगठन नेशनल लिबरेशन फ्रंट आफ त्रिपुरा (एनएलएफटी) के 88 सदस्यों ने मंगलवार को मुख्यमंत्री बिप्लव कुमार देव के सामने आत्मसर्पण कर दिया। 


त्रिपुरा के धोलाई जिले के आमबासा महकुमा के चंद्राईपाड़ा उच्च बुनियादी विद्यालय में औपचारिक रूप से एनएलएफटी के 88 कैडरों ने हथियार और अपने परिवारों के साथ आत्मसमर्पण किया। इसके बाद यह कहा जा सकता है कि अब एनएलएफटी का कोई भी सदस्य नहीं रह गया है। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री देव ने सभी सदस्यों का देश की मुख्य धारा में स्वागत करते हुए कहा कि सरकार हर संभव सहयोग करेगी। 


आत्मसमर्पण करने वाले काजल देव ने कहा कि सरकार के प्रति हमारे मन में अगाध आस्था है। इसके चलते ही संगठन ने आत्मसमर्पण कर मुख्य धारा में शामिल होने का निर्णय किया है। सरकार और प्रशासन ने आत्समर्पण करने वाले कैडरों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। इस मौके पर कई नेता और राज्य सरकार के आलाधिकारी मौजूद थे।


हिन्दुस्थान समाचार


 
Top