राष्ट्रीय

Blog single photo

नमक-रोटी प्रकरण: पत्रकार पर दर्ज मुकदमा को लेकर गांव में तनाव

09/09/2019

- प्रशासन ने शिउर में लगाई चौपाल, ग्रामीणों ने किया विरोध
- दोनों पक्षों के ग्रामीण आपस में अधिकारियों के सामने ही भिड़ गए

कमलेश्वर
मीरजापुर, 09 सितम्बर (हि.स.)। जमालपुर विकास खंड के हिनौता ग्रामसभा अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय शिउर के नमक-रोटी प्रकरण के बाद सोमवार को डीएम अनुराग पटेल के निर्देश पर गांव स्थित हनुमानजी मंदिर पर तहसीलदार चुनार ने चौपाल लगाई। इस दौरान अधिकारियों को अधिकारियों को आक्रोशित ग्रामीणों का विरोध भी करना पड़ा।

चौपाल के दौरान अधिकारियों ने राशन कार्ड, प्रधानमंत्री आवास, वृद्धा, विधवा, विकलांग पेंशन, आयुष्मान कार्ड का वितरण, श्रमिकों का पंजीयन कार्ड वितरण, कृषि सम्मान योजना से वंचित किसानों का पंजीयन किया गया। प्राथमिक विद्यालय शिउर पर सोमवार को जमालपुर की स्वास्थ्य विभाग की टीम ने शिविर लगाकर स्कूली बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया। इस दौरान बच्चों को दवा का भी वितरण किया गया। जमालपुर के चिकित्सक डाॅ. राजवंश के नेतृत्व में सोमवार की सुबह चिकित्सा शिविर लगाया गया। शिविर के दौरान 50 बच्चों का चेकअप किया गया। स्वास्थ शिविर के दौरान डाॅ. सत्येंद्र, डाॅ. प्रीति गुप्ता, स्टाफ नर्स सुमन सिंह सहित अन्य स्वास्थ्यकर्मी मौजूद रहे। 

प्राथमिक विद्यालय शिउर के नमक-रोटी प्रकरण में पत्रकार के खिलाफ दर्ज मुकदमा को लेकर गांव में तनाव की स्थिति बनी हुई है। सोमवार की सुबह गांव में दो पक्ष आमने-सामने हो गए। एक पक्ष राजकुमार पाल के ऊपर हुई कार्रवाई को सही ठहराता रहा तो वहीं दूसरा पक्ष मुकदमा वापसी की मांग पर अड़ा रहा। इस मुद्दे पर दोनों पक्षों के ग्रामीण आपस में अधिकारियों के सामने ही भिड़ गए। हालांकि समझा-बुझाकर किसी तरह मामला शांत कराया गया। 

शिउर गांव में सोमवार को अधिकारियों की चौपाल लगाए जाने की जानकारी मिलते ही ग्रामीण प्राथमिक विद्यालय पर एकत्रित होकर चौपाल का विरोध करने लगे। तभी कुछ ग्रामीण चौपाल लगाए जाने को सही ठहराते हुए सरकारी योजना से लाभान्वित होने के लिए सही बताने लगे। इसी बीच दोनों पक्षों में काफी झिकझिक हुई। वहां मौजूद अधिकारियों ने दोनों पक्ष को समझाकर किसी तरह मामला शांत कराया। हालांकि सोमवार को विद्यालय में बच्चो की संख्या चालिस के लगभग पहुंच गई थी। अभी भी काफी अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेज रहे हैं इन लोगों ने हनुमानजी मंदिर पर पहुंचकर चौपाल का विरोध किया विरोध कर रहे ग्रामीणों का कहना था कि जिला प्रशासन रोटी-नमक प्रकरण में दर्ज हुए मुकदमे पर पर्दा डालने के लिए चौपाल लगाकर लोगों का ध्यान हटाने का प्रयास कर रहा है। 

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top