अजीत कुमार तिवारी 

मॉस्को, 06 अप्रैल (हि.स.)। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने वर्ष 2036 तक राष्ट्रपति पद पर बने रहने और सत्ता पर काबिज रहने का रास्ता साफ कर लिया है। इससे संबंधित कानून को अंतिम मंजूरी दे दी है। जिसके बाद उनके लिए 6-6 साल के दो अतिरिक्त कार्यकाल का रास्ता साफ हो गया है। पिछले दो दशक से रूस का प्रतिनिधित्व कर रहे 68 वर्षीय पुतिन ने सोमवार को इस कानून पर हस्ताक्षर किया। 

संवैधानिक सुधार के रूप में पिछले साल राष्ट्रपति पुतिन ने इस बदलाव का प्रस्ताव रखा था। जिसपर रूसी जनता ने जुलाई में इसके पक्ष में मतदान किया। सांसदों ने पिछले महीने इस विधेयक को मंजूरी दी थी। इस कानून से पुतिन को मौजूदा और लगातार दूसरा कार्यकाल 2024 में खत्म होने के बाद दो और राष्ट्रपति चुनाव लड़ने की इजाजत मिल गई है। 

पुतिन पहली बार 2000 में राष्ट्रपति बने थे और चार-चार साल के लगातार दो कार्यकाल पूरे किए। 2008 में दिमित्री मेदवेदेव ने उनका स्थान लिया। मेदवेदेव ने राष्ट्रपति के कार्यकाल को बढ़ाकर साल का कर दिया। इसके बाद 2012 पुतिन की राष्ट्रपति पद पर वापसी हुई और फिर 2018 में भी वह इस पद के लिए चुने गए।  

हिन्दुस्थान समाचार

You Can Share It :