क्षेत्रीय

Blog single photo

उम्मीद की बारिश न होने से किसानों की धड़कने बढ़ी

09/08/2020

पिछले साल की अपेक्षा कम बारिश से फसलों को भारी नुकसान होना भी तय
-प्रमुख नदियाँ और तालाब सूखे, बारिश न हुई तो नीचे गिरेगा जलस्तर 

पंकज मिश्रा
हमीरपुर, 09 अगस्त (हि.स.)। बरसात के दो महीने गुजर चुके, लेकिन अभी तक जनपद की दो मुख्य नदियां यमुना और बेतवा सूखी पड़ी हैं। औसतन देखा जाये तो पिछले साल की तुलना में इस बार बारिश बहुत कम हुयी है। उम्मीद की बारिश न होने के कारण नदी, तालाब, और पोखर आदि सब सूखे पड़े हैं। जिससे आने वाले समय में जलस्तर और नीचे सरकने की संभावना है। 

पिछले तीन सालों में सबसे कम बारिश अभी तक मौसम विभाग ने रिकार्ड की है। इससे जन जीवन प्रभावित हो रहा है। वहीं अब किसानों की निगाहें अगस्त माह पर टिकी है। यदि इस महीने में भी अच्छी बारिश नहीं हुयी तो फसलों को भारी नुकसान होना तय है। 

जनपद में औसत वर्षा 800 से 900 मिलीमीटर है। जबकि जून में 70 से 80 और जुलाई में 300 से 350 मिमी बारिश होती है। मौसम विभाग के अनुसार इस साल जनपद में पिछले दो माह में 295 मिमी बारिश हो चुकी है, जो 65 प्रतिशत है। अगस्त में अच्छी बरसात नहीं हुई तो फसलों के लिहाज से हालात बिगड़ जाएंगे। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि बाकी बचे मानसूनी सीजन में अच्छी बारिश हो सकती है।

धान को तो दोगुना पानी चाहिए
कृषि वैज्ञानिक डाॅ.चंचल ने रविवार को बताया कि जनपद में अभी उड़द, मूंग, तिल, मूंगफली, ज्वार, बाजरा आदि की फसलें लगाई गई हैं। अभी सिर्फ इतना पानी इन फसलों को मिल रहा है कि यह जिंदा रह सकें। अगर आगे पानी नहीं गिरता है तो दिक्कत होगी। कहा कि जनपद में धान की खेती भी काफी वृहद स्तर पर होने लगी है। जिसके लिए दोगुना पानी चाहिए होता है।

नहीं हुई बारिश, नलकूप से लगा है पानी
पत्योरा निवासी किसान रामप्रकाश निषाद ने बताया कि गत वर्ष अच्छी बारिश हुई थी। लेकिन इस साल बारिश कमजोर है। कहा कि पहली बार एक बीघा में धान की फसल लगाई है। लेकिन बारिश न होने से नलकूप से पानी लगाना पड़ता है। अभी तक दोनों नदियां यमुना व बेतवा सूखी पड़ी हैं। तालाबों में भी पानी नहीं भरा है। जिससे फसलें बर्बाद होने की चिंता सता रही है।

तीन साल में जनपद में हुई बारिश
वर्ष             जून      जुलाई   अगस्त    सितंबर
2017-18   - 23.33-  177.00   -94.33  - 50.33
2018-19   - 21.33 -396.00 - 231.67 - 120.33
2019-20   - 84.33 - 320.33 - 343.33 - 226.00
2020-21   - 94.57 - 200.67 - 09 

धान को सप्ताह में पानी मिलना चाहिएः डाॅ.सरस
जिला कृषि अधिकारी डाॅ.सरस कुमार तिवारी ने रविवार को बताया कि धान को सप्ताह में एक दिन पानी मिल जाना चाहिए। उड़द, मूंग, तिल, ज्वार आदि फसलों को सप्ताह भर पानी मिलता रहना चाहिए। वर्ना फसलों को नुकसान पहुंच सकता है। कहा कि अगस्त में अच्छी बारिश होने के आसार हैं।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top