क्षेत्रीय

Blog single photo

चोरी के वाहनों को छिपाने का ठिकाना बने रेलवे स्टेशन, 'ऑपरेशन नंबर प्लेट' से हुआ खुलासा

12/08/2019

सुशील बघेल

नई दिल्ली, 12 अगस्त (हि.स.)। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और एनसीआर में बढ़ते वाहन चोरी के मामलों में चोरों ने ऐसे वाहनों को छिपाने के लिए अतिसंवेदनशील माने जाने वाले रेलवे स्टेशनों की पार्किंग को ही अपना ठिकाना बना लिया है। इसका खुलासा स्वतंत्रता दिवस की सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर रेल सुरक्षा बल (आरपीएफ) द्वारा चलाए गए विशेष तलाशी अभियान 'ऑपरेशन नंबर प्लेट' से हुआ है।

आरपीएफ के महानिदेशक (डीजी) अरुण कुमार ने सोमवार को बताया कि आरपीएफ की दिल्ली डिवीजन ने 6 से 8 अगस्त के बीच राजधानी के सभी छोटे-बड़े रेलवे स्टेशनों की पार्किंग में खड़े वाहनों की जांच की तो पता चला कि 128 वाहन बहुत लम्बे समय से पार्किंग में खड़े हैं। स्वतंत्रता दिवस की सुरक्षा के मद्देनजर आरपीएफ ने दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की संयुक्त टीम के साथ जब इन वाहनों की जांच की तो इसमें से तीन मोटरसाइकिलें चोरी की निकलीं। आरपीएफ ने तुरंत स्थानीय पुलिस को मामले की सूचना दी। सूचना पर त्वरित कार्रवाई करते हुए पुलिस ने तीनों वाहनों को जब्त कर लिया है।

डीजी के अनुसार लम्बे समय से सूचना मिल रही थी कि रेलवे स्टेशन परिसरों में कई संदिग्ध वाहन खड़े हुए हैं। स्वतंत्रता दिवस पर आतंकी द्वारा हमलों के इनपुट मिलने के बाद आरपीएफ हाई अलर्ट पर थी। ऐसे में आतंकी हमलों से बचने के लिए आरपीएफ ने 9 से 11 अगस्त के बीच दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के साथ 'ऑपरेशन नंबर प्लेट' अभियान चलाया। पाया गया कि 128 वाहन पांच दिन से अधिक समय से पार्किंग में खड़े थे। जांच में पता चला कि इनमें से तीन मोटरसाइकिल चोरी की थी। इनकी चोरी की पुलिस में प्राथमिकी भी दर्ज थी। कई संदिग्ध वाहनों की जांच चल रही है।

उन्होंने बताया कि एक चार पहिया वाहन भी पांच दिन से अधिक समय से पाकिंग में खड़ा पाया गया है। ट्रैफिक पुलिस और स्थानीय पुलिस इसमें और पूछताछ कर रही है। बाकी 124 वाहनों के मालिकों से उपयुक्त कानूनी निपटान के लिए संपर्क किया गया।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top