व्यापार

Blog single photo

रेपो दर में कमी से भी नहीं संभाल बाजार, लाल निशान पर बंद हुए दोनों प्रमुख सूचकांक

07/08/2019

गोविन्द चौधरी
नई दिल्ली/मुम्बई, 07 अगस्त (हि.स.)। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की मौद्रिक नीति समिति द्वारा बुधवार को लगातार चौथी बार रेपो दर में कटौती से भी घरेलू बाजार को बल नहीं मिला । बाजार बंद होने पर दोनों प्रमुख सूचकांक लाल निशान पर बंद हुए।
कारोबारी सत्र के तीसरे दिन बुधवार को 31 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक बॉम्बे स्टाक एक्सचेंज (बीएसई) का सेंसेक्स 286.35 अंक और नेशनल स्टाक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों वाला निफ्टी 92.75 अंक की गिरावट के साथ बंद हुआ। 
आज बाजार के दोनों प्रमुख सूचकांकों के साथ-साथ छोटे-मंझोले शेयर सूचकांकों में भी कमजोरी आयी। सत्र के अंतिम घंटे में हुई बिकवाली के चलते सूचना प्रोद्योगिकी (आईटी) और फार्मा को छोड़ कर बाकी सभी सूचकांक लाल निशान में बंद हुए।
बीएसई सेंसेक्स 36,976.85 अंकों के पिछले बंद स्तर की तुलना में आज सुबह गिरावट के साथ 37,025.27 पर खुला। सत्र के दौरान सेंसेक्स 36,610.57 के ऊपरी स्तर तक चढ़ा और अंत में 286.35 अंकों या 0.77 फीसदी की गिरावट के साथ 36,690.50 पर बंद हुआ। एनएसई  का निफ्टी  10,948.25 के पिछले बंद स्तर की तुलना में 10,958.10 पर खुल कर 92.75 अंक या  फीसदी की कमजोरी के साथ 10,855.50 पर बंद हुआ। 
निफ्टी के प्रमुख 50 शेयरों में से 14 शेयरों में मजबूती और 35 शेयरों में कमजोरी आयी, जबकि इसका एक शेयर सपाट रहा। वहीं बीएसई के 31 प्रमुख शेयरों में 08 शेयरों में बढ़ोतरी और 23 शेयरों में गिरावट दर्ज की गयी।
सेंसेक्स के शीर्ष फायदे वाले शेयर 
हिंदुस्तान यूनिलीवर में 1.95 फीसदी
यस बैंक में 1.70 फीसदी,
हीरो मोटोकॉर्प में 1.54 फीसदी,
सन फार्मा में 0.80 फीसदी
इंडसइंड बैंक में 0.72 फीसदी और टेक महिंद्रा में 0.38 फीसदी की बढ़त आयी। 
सेंसेक्स के शीर्ष नुकसान वाले शेयर
महिंद्रा ऐंड महिंद्रा में 5.62 फीसदी
टाटा स्टील में 4.75 फीसदी
टाटा मोटर्स में 4.20 फीसदी
एसबीआई में 3.75 फीसदी
वेदांत में 3.02 फीसदी और ऐक्सिस बैंक में 2.77 फीसदी की कमजोरी दर्ज की गयी।
आज बीएसई के कुल शेयरों में से 1,109 शेयरों में मजबूती के मुकाबले 1,372 शेयरों में कमजोरी आयी, जबकि 160 शेयर सपाट रहे।
उल्लेखनीय है कि भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने लगातार तीन बार 25-25 आधार अंकों की कटौती के बाद बुधवार को रेपो दर में 35 आधार अंकों की कटौती का फैसला लिया। केंद्रीय बैंक ने अर्थव्यवस्था को सहारा देने के लिए रेपो दर 35 आधार अंक घटा कर 5.40 फीसदी कर दिया, जो पिछले नौ सालों में सबसे कम है। 
हिन्दुस्थान समाचार


 
Top