राष्ट्रीय

Blog single photo

स्वतंत्रता दिवस समारोह: एसपीजी ने संभाली सुरक्षा की कमान

13/08/2019

अश्वनी शर्मा

नई दिल्ली, 13 अगस्त (हि.स.)। स्वतंत्रता दिवस पर आतंकी खतरे का खुफिया अलर्ट आने के बाद लालकिला और आसपास के इलाके में सुरक्षा के बंदोबस्त और कड़े कर दिए गए हैं। समारोह की सुरक्षा अभेद्य बनाने के लिए लालकिले की आतंरिक घेरे की सुरक्षा कमान स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) ने संभाल ली है। साथ ही एनएसजी के कमांडो फोर्स और अर्धसैनिक बल की टीम की भी तैनाती की गई है। चप्पे-चप्पे पर नजर है। लालकिला से लेकर करीब तीन किलोमीटर तक के दायरे को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। 

सुरक्षा को अभेद्य बनाने की कवायद में लालकिला के अंदर और बाहर स्थित पेड़ों की सांकेतिक कोडिंग कर ‘सुरक्षा खाका’ तैयार किया गया है। इन पेड़ों का कोड निर्धारित कर करीब 3200 सुरक्षा प्वाइंट बनाए गए हैं, जहां से स्पेशल कमांडो दस्ते संदिग्धों पर पैनी नजर रखेंगे। इसके अलावा हेलीकाप्टर पर अत्याधुनिक हथियारों से लैस कमांडो टीम आकाश मार्ग से सुरक्षा की कमान संभालेगी। 

हर पेड़ की सुरक्षा कमान होगी एक टीम के पास
लाल किले के भीतर और बाहर पेड़ों की कोडिंग कर एक-एक टीम के हाथ में सुरक्षा कमान सौंप दी गई है। इन सभी प्वाइंट की सुरक्षा संभालने वाले न सिर्फ एक-दूसरे से जुड़े रहेंगे बल्कि सीधे कंट्रोल रूम के संपर्क में भी रहेंगे। कंट्रोल रूम में 25 पुलिसकर्मियों को लगाया गया है। इस कंट्रोल रूम को सीधे एनएसजी और अन्य दूसरी सुरक्षा एजेंसियों से जोड़ दिया गया है, ताकि किसी भी आपातकालीन स्थिति में सीधे संपर्क साधा जा सके।

दिल्ली के 52 स्थानों पर बढ़ाई गई सुरक्षा
खुफिया इनपुट के बाद खासतौर से दिल्ली की सुरक्षा को लेकर समीक्षा की गई और 52 संवेदनशील स्थानों की सुरक्षा को और चौकस बनाने पर जोर दिय गया है। इसमें एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस अड़्डे, प्रमुख बाजार व लालकिला सहित ऐतिहासिक व धार्मिक महत्व के कुछ  ठिकाने शामिल हैं। इन स्थानों पर दिल्ली पुलिस के अलावा अर्धसैनिक बलों के जवानों की तैनाती व गश्त बढ़ा दी गई है। 

लालकिले के आसपास 16 कमांडो वाहन पराक्रम तैनात 
लुटियन जोंस इलाके से लेकर लालकिले तक पहुंचने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित अन्य वीआईपी रूट पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। रूट के अलावा लालकिले और आसपास के दायरे में करीब पुलिस ने अत्याधुनिक हथियारों से लैस 16 कमांडो वाहन ‘पराक्रम’ को सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत करने के लिए लगाया गया है। सुरक्षा तैयारियों के मद्देनजर मंगलवार से ही इन कमांडो वाहनों के साथ सुरक्षाकर्मियों ने अपनी-अपनी पोजिशन ले ली है। हालांकि इसमें से कुछ को आसपास के इलाके में गश्त भी करना है। 

लालकिले व आसपास रूफ टॉप दस्ते की तैनाती
इसके अलावा लालकिले और आसपास के इलाकों में स्थित उंची इमारतों पर दूरबीन और अत्याधुनिक हथियारों से लैस रूफ टॉप दस्ते की तैनाती की गई है। जगह-जगह मचान बनाकर भी कमांडो दस्ते की तैनाती की गई है। लालकिले की सुरक्षा में तैनात दिल्ली पुलिस सहित अन्य सुरक्षा एजेंसियों के आला अधिकारियों के बीच आपस में पल-पल की सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए वैकल्पिक तौर पर दो कंट्रोल रूम भी बनाए गए हैं। लालकिले व आसपास के पूरे इलाके को सीसीटीवी से लैस कर दिया गया है, ताकि किसी भी संदिग्ध व्यक्ति या वाहन पर पैनी नजर रखी जा सके। मंगलवार से लालकिला की सुरक्षा एनएसजी के हवाले कर दी गई। डॉग स्क्वॉड व बम स्क्वॉड की टीम हर कुछ घंटे पर इलाके की जांच-पड़ताल कर रही है। 

और क्या है सुरक्षा तैयारियां
- लालकिला व रूट सहित सुरक्षाकर्मियों की होगी तैनाती- 20,000
- इसमें अर्धसैनिक बलों के जवानों की संख्या होगी- 5,000
- लालकिला व आसपास तैनात विशेष कमांडो होंगे तैनात- 500
- आसपास की इमारतों की बालकनी पर सुरक्षाकर्मियों की होगी तैनाती- 605
- आसपास की इमारतों की खिड़कियों पर होगी सुरक्षाकर्मियों की तैनाती- 104

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top