क्षेत्रीय

Blog single photo

हमीरपुर के एक दर्जन से अधिक गांवों में टिड्डी दल ने किया हमला

29/06/2020

-हरे भरे पेड़ वीरान, गन्ने के खेत को भी टिड्डी दल ने बनाया निशाना
-कृषि विभाग ने फायर बिग्रेड व नगर पालिका की मदद से लाखों टिड्डियां मारी

पंकज मिश्रा
हमीरपुर, 29 जून (हि.स.)। जनपद में टिड्डी दल ने एक दर्जन से अधिक गांवों में हरियाली को निशाना बनाते हुये भारी नुकसान पहुंचाया है। इससे हजारों किसान चिंता में पड़ गये है। सोमवार को कृषि विभाग के अधिकारियों ने फायर बिग्रेड व नगर पालिका की मदद से टिड्डी दल के सफाये के लिये जोरदार आपरेशन चलाया जिसमें लाखों टिड्डियां खत्म हो गयी है। एक किमी से अधिक दायरे में टिड्डी दल अब जालौन सीमा में घुस गया है। 

जनपद में पाकिस्तान से आये टिड्डी दल ने तीसरी बार हमला किया है। अबकी बार राठ और गोहांड क्षेत्र के एक दर्जन से अधिक गांवों में हरियाली को जबरदस्त नुकसान पहुंचाया है। बसेला, पहाड़ी, सैदपुर, नौहाई, कैथा, सदर तथा स्यावरी सहित तमाम गांवों में एक किमी से अधिक के दायरे में टिड्डी दल के आसमान में उडऩे से हजारों किसान चिंता में पड़ गये। किसानों ने एकजुट होकर थाली, ढोल और ट्रैक्टर स्टार्ट कर टिड्डी दल को भगाने की कोशिश की लेकिन टिड्डी दल आसमान से नीचे आकर हरे भरे पेड़ों पर बैठ गयी। 

ग्रामीणों ने बताया कि टिड्डी दल के कारण जंगल में बड़ी संख्या में हरे भरे पेड़ वीरान जैसे हो गये है। इन्हें भगाने के लिये धुआं भी किया गया लेकिन कोई असर नहीं पड़ा। टिड्डी दल ने किसानों के गन्ने के खेत में भी हमला किया है।  टिड्डी दल के जनपद में आने की खबर पाते ही जिला कृषि अधिकारी सरस कुमार तिवारी ने अपनी टीम के साथ मौके पर डेरा डाल दिया है। 

उपनिदेशक कृषि प्रसार जेएन श्रीवास्तव भी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और टिड्डी दल के सफाये के लिये अभियान का पर्यवेक्षण किया। दमकल गाड़ी और नगर पालिका परिषद की टीम ने टिड्डी दल के सफाये के लिये आपरेशन शुरू किया। जिला कृषि अधिकारी ने बताया कि इस आपरेशन में करीब बीस प्रतिशत टिड्डियां खत्म हो गयी है।

वहीं टिड्डी दल जनपद के गोहांड से जालौन जनपद की सीमा में प्रवेश कर गया है। उन्होंने बताया कि बारिश के कारण टिड्डियों के सफाये में बड़ी दिक्कतें आयी है इसके बाद भी आपरेशन सफल रहा। जिला कृषि अधिकारी ने बताया कि टिड्डी दल जिस इलाके में बैठता है वहां कुछ ही घंटे में हरियाली खत्म हो जाती है। 

उन्होंने बताया कि टिड्डी दल को लेकर अभी भी टीमें मौके पर कैम्प कर रही है। जैसे ही दोबारा टिड्डी दल ने जनपद की सीमा उड़ान भरी तो इनके खात्मे के लिये टीमें हरकत में आ जायेगी। फिलहाल एक दर्जन से अधिक गांवों में टिड्डियों को लेकर किसान एकजुट है। एक टिड्डी का वजन करीब पचास ग्राम तक बताया जा रहा है। बता दे कि इससे पहले टिड्डी दल ने मौदहा और राठ क्षेत्र के तमाम गांवों में हमला किया था। जिले लेकर कृषि विभाग ने एक बड़ा आपरेशन चलाकर लाखों की तादात में टिड्डियों का सफाया कराया था। इसके बाद भी टिड्डी दल के खतरे से जनपद के किसान अभी महफूज नहीं है।

हिन्दुस्थान  समाचार


 
Top