राष्ट्रीय

Blog single photo

महाराष्ट्र: कोल्हापुर-सांगली में तीन और शव बरामद, मृतकों की संख्या पहुंची 43

12/08/2019

राजबहादुर यादव
-मंगलवार से बाढ़ पीड़ितों को मिलेगी 5 हजार नगद आर्थिक मदद, 313 एटीएम की व्यवस्था  
-मौसम विभाग ने दी दो दिन और मूसलाधार बारिश की चेतावनी
मुंबई, 12 अगस्त (हि.स.) । कोल्हापुर व सांगली में सोमवार को सुबह तीन और शव बरामद किए गए हैं। इन तीनों को मिलाकर दोनों जिलों में बाढ़ से अब तक 43 लोगों की मौत हो चुकी है और 3 लोग अभी भी लापता हैं। यह जानकारी पुणे विभागीय आयुक्त दीपक ह्मैसेकर ने दी है। 
ह्मैसेकर ने बताया कि अब तक इन दोनों जिलों में चार लाख 74 हजार 226 लोगों को बाढ़ की चपेट से बचाया गया है। प्रशासन की ओर से 313 एटीएम में सरकार की ओर पैसे उपलब्ध करवाये जा रहे हैं और मंगलवार से सभी बाढ़ पीड़ितों को 5-5 हजार रुपये नगद मिलने शुरू हो जाएंगे। उन्होंने बताया कि पुणे मौसम विभाग ने और तीन दिन मूसलाधार बारिश की चेतावनी दी है। इसलिए प्रशासन पूरी तरह चुस्त-दुरुस्त है। उन्होंने बताया कि कर्नाटक के आलमत्ती बांध व कोयना बांध से पानी छोड़ा जा रहा है। इससे कोल्हापुर ,सांगली व सातारा में बाढ़ का पानी घटा है। लेकिन सांगली में खतरे के निशान से 5 फीट 2 इंच व कोल्हापुर में खतरे के निशान से 5 फीट पानी का उपरी स्तर अभी भी बरकरार है। सांगली में अभी भी 12 गांव व कोल्हापुर में 18 गांव बाढ़ की चपेट में हैं। इन गांवों में से लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थल पर पहुंचाने का काम सोमवार को भी जारी था। बाढ़ का असर सोलापुर में भी है। यहां 16 गांव पानी की चपेट में हैं। इन 16 गांवों में भी राहत व बचाव कार्य जारी है। 
ह्मैसेकर के अनुसार कोल्हापुर में 31 मुख्य सडक़ों में से 15 सडक़ें व सांगली में 45 में से 15 रास्तों को सोमवार को पानी घटने के बाद शुरू कर दिया गया है । मुंबई- बेंगलुरु महामार्ग पर जीवन के लिए आवश्यक वस्तुओं को पहुंचाने के लिए काम चल रहा है । पुणे से सोमवार को बाढ़ पीड़ितों के लिए 32 ट्रक राहत सामग्री भेजी गई है, जो कल से वितरित की जाएगी। बाढ़ की वजह से सरकारी व निजी इमारतों में कितना नुकसान हुआ है, इसका आकलन करने का काम जल्द शुरू किया जाएगा। 
हिन्दुुस्थान समाचार


 
Top