राष्ट्रीय

Blog single photo

जेडीयू के राज्यसभा सांसद महेंद्र प्रसाद की पत्नी होने का दावा करने वाली महिला गिरफ्तार

10/10/2019

संजय कुमार

नई दिल्ली, 10 अक्टूबर (हि.स.)। जेडीयू के राज्यसभा सांसद महेंद्र प्रसाद की पत्नी होने का दावा करने वाली एक महिला को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस ने दिल्ली हाईकोर्ट को यह जानकारी देते हुए बताया कि उस महिला को सांसद महेंद्र प्रसाद की असली पत्नी की शिकायत पर गिरफ्तार किया गया है।

दिल्ली सरकार के वकील राहुल मेहरा ने जस्टिस मनमोहन और जस्टिस संगीता धींगरा सहगल की बेंच को बताया कि उक्त महिला को तब गिरफ्तार किया गया जब महेंद्र प्रसाद की पत्नी ने इस बात की शिकायत दर्ज कराई कि उनके जेवरात उक्त महिला ने ले लिए हैं और वह लौटा नहीं रही है। उक्त महिला से दिल्ली पुलिस ने नौ अक्टूबर को पूछताछ की थी और उसे लीला होटल से गिरफ्तार कर लिया था। वो महिला लीला होटल में ही रह रही थी। दरअसल कोर्ट के निर्देश पर उक्त महिला महेंद्र प्रसाद से अलग लीला होटल में रह रही थी।

सुनवाई के दौरान गिरफ्तार महिला के वकील ने कोर्ट को बताया कि उन्होंने पुलिस से लिखित मांग की थी कि उन्हें सांसद से मिलने दिया जाए लेकिन उन्हें सांसद से मिलने की अनुमति नहीं दी गई। इस पर दिल्ली पुलिस ने कहा कि सांसद से मिलने की अनुमति इसलिए नहीं मिली क्योंकि उन्हें कोई जरूरी काम नहीं था। गिरफ्तार महिला के वकील ने कोर्ट को बताया कि सांसद महेंद्र प्रसाद के बेटे ने बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दायर कर कहा था कि उनकी मां को गलत तरीके से कब्जे में रखा गया है। सांसद के बेटे ने यह याचिका निहित स्वार्थ की वजह से दायर की थी क्योंकि वे चाहते थे कि सांसद के आवास में इसलिए गए हैं क्योंकि वे उस आवास पर कब्जा करना चाहते हैं।

सांसद के बेटे के बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने गिरफ्तार महिला को सांसद से अलग रहने का आदेश दिया था। गिरफ्तार महिला के वकील ने कहा कि सांसद ने अपने बेटे को बेदखल भी कर दिया है। इसका सांसद के बेटे के वकील ने विरोध करते हुए कहा कि वे अपनी मां की इच्छा की वजह से सांसद के आवास में रह रहे हैं। इस पर कोर्ट ने सांसद के बेटे से कहा कि वे अपनी मां से दिनभर मिल सकते हैं लेकिन वे वहां ठहर नहीं सकते हैं या उनके आवास पर कब्जा नहीं कर सकते। कोर्ट ने गिरफ्तार महिला के वकील से कहा कि वे बेदखल किए गए सांसद के पुत्र के खिलाफ अपनी शिकायत अलग याचिका दायर कर सकते हैं। उसके बाद ही उस संबंध में कोई आदेश पारित किया जा सकता है।

गिरफ्तार महिला ने हाईकोर्ट के सांसद से अलग रहने के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। गिरफ्तार महिला खुद को सांसद का पत्नी बताती है।

 

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top