अंतरराष्ट्रीय

Blog single photo

महंगाई की मार से बेहाल पाकिस्तानियों का इमरान खान के खिलाफ फूटा गुस्सा

13/02/2020


इस्लामाबाद, 13 फरवरी (हि.स.)। पाकिस्तान में महंगाई तेजी से बढ़ रही है। खाने-पीने की चीजों के दाम आसमान छू रहे हैं। आम जनता के लिए दो समय का खाना जुटाना दिनों दिन मुश्किल होता जा रहा है। पिछले दिनों आटे की कमी के कारण बाहर से आटा बाहर से मंगवाया गया था। बता दें कि पाकिस्तान में इस समय आटे की कीमत 80 रुपये प्रति किलो से ज्यादा और चीनी की कीमत 74 रुपये प्रति किलोग्राम चल रही है। दिनों-दिन बढ़ती महंगाई को लेकर पाकिस्तान की जनता इमरान खान सरकार से काफी नाराज़ है। 

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान थान ने ट्वीट कर कहा था कि वह आम जनता की तकलीफों को समझते हैं और  जल्द ही कैबिनेट बैठक में खाद्य पदार्थों के दामों को कम करने के लिए कदम उठाए जाएंगे। 

पाकिस्तान में आटा इतना महंगा हो गया है कि साधारण रोटी की कीमत 12 से 15 रुपये हो गई है प्रधानमंत्री इमरान खान की मंत्रिमंडल के साथ हुई बैठक में तेजी से बढ़ रही महंगाई दर को नियंत्रित करने के लिए यह निर्णय लिया गया है कि पांच आवश्यक खाद्य पदार्थों पर सब्सिडी दी जाएगी।

मीडिया से बात करते हुए इमरान खान की विशेष सूचना और प्रसारण सहायक  फिरदौस आशिक अवान ने बताया कि गेंहू, चावल, चीनी, तेल और मसूर सहित आधारभूत चीजों की कीमत में कमी लाने में मदद करने के उद्देश्य से पाकिस्तान के यूटिलिटी स्टोर कॉर्पोरेशन को पांच महीने की अवधि के लिए दो बिलियन रुपये प्रति महीना की सब्सिडी दी जाएगी।

अवान ने बताया कि चीनी के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया है साथ ही कहा है कि सरकार जरूरी खाने की चीजों पर नजर रखने के लिए एक रणनीति बनाने की प्रक्रिया में है।

सरकार ने घरेलू बाजार में भी खाद्य पदार्थों की कीमतों को कम करने के लिए दालों पर आयात शुल्क खत्म करने का निर्णय लिया है। साथ ही सस्ती दरों पर लोगों को रोजमर्रा की खाने की चीजों के प्रावधान के लिए देशभर में ज्यादा उपयोगिता स्टोर सेथापित करने के लिए एक ऋण सुविधा को मंजूरी दी गई है।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top