राष्ट्रीय

Blog single photo

बकरीद पर्व को लेकर राज्य में सुरक्षा-व्यवस्था बढ़ी, घाटी के बाजारों में खरीदारी जोरों पर

11/08/2019

-हालात हो रहे सामान्य, त्योहार के लिये लोग अपनी जरूरत का खरीद रहे हैं सामान
-कहा- शांत और अमन के साथ मनाएंगे बकरीद, मोबाइल-इंटरनेट सेवा फिलहाल बंद

मोनिका
जम्मू, 11 अगस्त (हि.स.)। प्रशासन ने बकरीद पर्व के चलते राज्य में सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ा दिया गया है। बकरीद 12 अगस्त यानि सोमवार को है। रविवार को घाटी के लोग काफी संख्या में अपने घरों से निकले और त्योहार को लेकर बाजारों से अपनी जरूरत का हर तरह का सामान खरीद रहे हैं। आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद तनाव की स्थिति के कयास लगाए जा रहे थे, लेकिन अभी तक कोई अप्रिय घटना नहीं हुई है। इससे साफ है कि कश्मीर घाटी में बकरीद से पहले अमन और शांन्ति की वापसी हो रही है। जम्मू से जहां धारा 144 हटा ली गई वहीं कश्मीर में कुछ जगहों पर ढील दी गई है। बकरीद त्योहार को देखते हुए शोपियां, पुलवामा, अनंतनाग और सोपोर जैसे इलाकों में प्रशासन द्वारा सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंताजम किए गए हैं।

इस सबके बीच जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा कि राज्य में हालात सामान्य हैं। कश्मीर घाटी में लोग बकरीद पर शांन्ति से सामान खरीद रहे हैं और प्रशासन ने भी त्योहार के मौके पर लोगों के लिए पुख्ता इंतजाम किए हैं। फिलहाल कश्मीर घाटी में टेलीफोन और इंटरनेंट सेवा को बहाल नहीं किया गया है। उन्हाेंने लोगाें से अपील की है कि अफवाहों पर ध्यान न दें। उन्होंने बताया कि कश्मीर में हालात फिलहाल नियत्रंण में है। राष्ट्रीय सलाहकार अजीत डोभाल छठे दिन भी कश्मीर घाटी में हैं और लगभग हर रोज़ वहां की आम जनता से मिलकर 370 के प्रति जो भ्रम है उसे दूर करने की कोशिश कर रहे हैं। अजीत डोभाल अगले तीन दिन तक कश्मीर घाटी में ही रहेंगे।

कश्मीर घाटी में धारा 144 में कुछ जगहों पर ढील दी गई है। बकरीद के चलते लोग बिना किसी भय के बाजारों में सामान खरीदने पहुंचे रहे हैं। घाटी में बाजारों में काफी रौनक दिखाई दे रही है। इन सबके बीच कश्मीर घाटी के चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाबलों की तैनाती है। सुरक्षाबल कश्मीर घाटी में अपनी पैनी नजर रखे हुए हैं। कश्मीर घाटी में लोग अनुच्छेद 370 को छोड़ बकरीद मनाने की तैयारियों में पूरे उत्साह से जुटे हुए हैं। घाटी के लोगों का कहना है कि इस बार हम अमन और शांन्ति से बकरीद मनाएंगे। प्रशासन ने भी जम्मू-कश्मीर में बकरीद मनाने के लिए व्यापक प्रबंध किए हैं ताकि लोगों को इस त्योहार को मनाने में किसी परेशानी का सामना न करना पड़े। श्रीनगर में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए मोबाइल, इंटरनेट तथा ब्राडबैंड सेवा फिलहाल बंद रखी गई है। लेकिन लोगों की सुविधा के लिए डीसी कार्यालय श्रीनगर ने दो हेल्पलाइन नम्बर जारी किए हैं। सुरक्षाबलों की सुविधा के लिए 300 सेटलाइट फोन मुहिया करवाए गए हैं।

जम्मू के रामबन, डोडा, किश्तवाड़, राजौरी तथा पुंछ में अभी भी धारा 144 लागू है। इसी बीच प्रशासन द्वारा किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए फिलहाल जम्मू में सुरक्षाबलों की तैनाती पहले की तरह ही की गई है। जम्मू में फिलहाल मोबाइल-इंटरनेट सेवा को बहाल नहीं किया गया है।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top