अपराध

Blog single photo

पुलिस गिरफ्त से भागे कैदी व उसके दो साथियों को फरीदाबाद पुलिस ने दबोचा

01/02/2020

मनोज तोमर
फरीदाबाद, 01 फरवरी (हि.स.)। गुरुग्राम पुलिस टीम पर फायरिंग करके 2 बदमाशों को भगा ले जाने के चंद घण्टों बाद फरीदाबाद पुलिस की टीमों ने नाकेबंदी कर बदमाशों से मुठभेड़ की और कई राउंड की फायरिंग के बाद फरार बदमाश सहित तीन बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। तीनों ही बदमाशों को पुलिस कार्यवाही के दौरान गोलियां लगी है, जिनका सिविल अस्पताल बादशाह खान में उपचार चल रहा है। हालांकि एक बदमाश अभी भी फरार है,जिसे पुलिस की टीम तलाश रही है।
हरियाणा पुलिस के डीजीपी मनोज यादव व पुलिस कमिश्रर के.के. राव ने बदमाशों को पकड़ने वाली पुलिस टीम को 5-5 लाख रुपये देने की घोषणा की। सेक्टर-21ए स्थित कार्यालय पर रात को आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान पुलिस कमिश्रर के.के. राव ने इस मामले का खुलासा करते हुए कहा कि शनिवार को गुडगांव पुलिस के सात कर्मचारी पुलिस वैन में भौंडसी जेल में बंद पांच कैदियों को फरीदाबाद पेशी के लिए लाए थे, वापिस लौटते समय गुडग़ांव रोड स्थित हनुमान मंदिर के पास बदमाशों ने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी थी और बदमाश संदीप उर्फ काला निवासी जाटौली और धन सिंह पुत्र सियाराम निवासी दर्धपट्टी होडल पलवल को छुड़ाकर ले गए थे। इस घटना में एएसआई जितेंद्र को गोली लग गई थी। सूचना के बाद पुलिस ने पूरे जिले में अलर्ट कर दिया और आरोपियों की धरपकड़ में जुट गई। 
पुलिस आयुक्त ने बताया कि पुलिस आरोपियों को सर्च कर रही थी, तभी सिकरौना नाके के बाद बदमाशों की गाडियों ने पुलिस बैरीकेट को टक्कर मारी परंतु बैरीकेट हैवी होने के कारण वह उसे तोड़ नहीं पाए और उतरकर खेतों में भागने लगे, जिस पर पुलिस टीम ने उन पर फायरिंग की। इस दौरान भागने वाले कैदी धन सिंह पुत्र सियाराम निवासी दर्धपट्टी होडल पलवल के अलावा इन्हें भगाने वाले नरेश सेठी व कपिल को गिरफ्तार कर लिया। इन तीनों को ही गोलियां लगी है, जिन्हें उपचार के लिए सिविल अस्पताल बादशाह खान में दाखिल करवाया गया है। पुलिस आयुक्त ने बताया कि इनके कब्जे से 11 ऑटोमेटिक गन, 200 राउंड कारतूस व एक पम्प गन बरामद की है। उन्होंने बताया कि तीनों ही आरोपी हरियाणा व दिल्ली के मोस्टवांटेड है, जिन पर दर्जनों संगीन मामले दर्ज है। पकड़े गए आरोपी नरेश सेठी पर करीब 50 लोगों से फिरौती मांगने के मामले दर्ज है और वह हाल ही में दिल्ली में गोली चलाकर फरार हुआ था।  पुलिस आयुक्त ने बताया कि एएसआई जितेंद्र के कंधे में चोट लगी थी, जिसका ऑपरेशन हो चुका है और वह खतरे से बाहर है। 

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top