चुनावी विशेष

Blog single photo

(अपडेट) शाहीन बाग के प्रदर्शन से पाकिस्तान को मिल रही मजबूती : योगी

03/02/2020

(अपडेट) शाहीन बाग के प्रदर्शन से पाकिस्तान को मिल रही मजबूती : योगी

नई दिल्ली, 03 फरवरी (हि.स.) । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा उम्मीदवारों के समर्थन में नुक्कड़ सभाओं को संबोधित किया। इस दौरान योगी ने विकासपुरी विधानसभा क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार संजय सिंह, उत्तम नगर से कृष्ण गहलोत, द्वारका क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार प्रद्युम्न राजपूत और महरौली से उम्मीदवार कुसुम खत्री के समर्थन में नुक्कड़ सभाओं को संबोधित किया। योगी ने आम आदमी पार्टी के संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि केजरीवाल की सहानुभूति दिल्ली की जनता से नहीं बल्कि अफजल गुरु की फांसी पर आंसू बहाने वालों से है। उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के विरोध में दिल्ली के शाहीन बाग में जारी धरना-प्रदर्शन से पाकिस्तान को मजबूती मिल रही है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि दिल्ली का चुनाव पूरा देश देख रहा है। लोग इसलिए यह चुनाव देख रहे हैं कि कांग्रेस और केजरीवाल विकास, सुशासन और राष्ट्रवाद के विषयों पर न लड़कर उन देश विरोधी तत्वों के साथ मिलकर लड़ रहे हैं जो देश की संप्रभुता को चुनौती दे रहे हैं। योगी ने कहा कि दिल्ली की सत्ताधारी पार्टी शाहीन बाग के लोगों के हितों के लिए खड़ी है, जो राजधानी को पिछले 50 दिनों से बंधक बनाए हुए हैं। केजरीवाल को आतंवादियों का समर्थन करने वाले लोगों से हमदर्दी है। 

उन्होंने कहा कि आज से पांच साल पहले दिल्ली के लोगों ने केजरीवाल को अच्छी शिक्षा, साफ पानी और मूलभूत सुविधाओं की पूर्ति के लिए वोट किया था, लेकिन आज इनमें से कोई काम नहीं किया है। केजरीवाल ने पांच साल पहले कहा था हम हर विधानसभा क्षेत्र में एक नया स्कूल खोलेंगे। पाठशाला तो बना नहीं फिर मोहल्ले-मोहल्ले मधुशाला जरूर खुलवा दिये। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने देश में लोक कल्याण के लिए कई योजनाओं को लागू किया। जनता उससे लाभान्वित हुई, लेकिन कितने हैरानी की बात है कि दिल्ली में केजरीवाल ने उसे केवल राजनीतिक विद्वेष के कारण लागू नहीं होने दिया। 

आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली में यमुना को स्वच्छ करना चाहते थे, लेकिन केजरीवाल ने सहयोग नहीं किया। 


हिन्दुस्थान समाचार/वीरेन 


 
Top