चुनावी विशेष

Blog single photo

एमसीडी के खराब स्कूलों के पीछे केजरीवाल का हाथ: मनोज तिवारी

05/02/2020

एमसीडी के खराब स्कूलों के पीछे केजरीवाल का हाथ: मनोज तिवारी
नई दिल्ली, 05 फरवरी (हि.स.)। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद मनोज तिवारी ने बुधवार को महरौली विधानसभा से भाजपा उम्मीदवार कुसुम खत्री के समर्थन में एक नुक्कड़ सभा को संबोधित किया और वहां मौजूद लोगों से भाजपा के पक्ष में मतदान करने की अपील भी की। 
इस मौके पर तिवारी ने कहा कि दिल्ली नगम निगम में चाहे किसी की भी सरकार बन जाए लेकिन जब तक राज्य की सरकार उसको पैसा नहीं देगी, तब तक उसका उद्धार नहीं किया जा सकता है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कुछ ऐसा ही हाल एमसीडी के साथ कर रहे हैं, क्योंकि एमसीडी में भाजपा की सरकार है। आप सरकार ने एमसीडी का फंड रोककर रखा है, जिसकी वजह से यहां के स्कूलों का विकास नहीं हो पा रहा है और न ही अध्यापकों  को समय से वेतन मिल पा रहा है। इसके बावजूद केजरीवाल दिल्ली की जनता के बीच जाकर दावा कर रहे हैं कि नगर निगम के स्कूलों में अच्छी शिक्षा व्यवस्था नहीं है। 

इसके पहले मनोज तिवारी ने आज आरके पुरम विधानसभा से भाजपा उम्मीदवार अनिल शर्मा के समर्थन में एक नुक्कड़ सभा को संबोधित किया। इस सभा में तिवारी ने केजरीवाल और उनके सरकार के कामों की जमकर आलोचना की। तिवारी ने कहा कि यहां मौजूद लोगों को देखकर लग रहा है कि इस बार कमल खिलने वाला है। 

तिवारी एक आरटीई रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि पिछले पांच साल में दिल्ली के सरकारी स्कूलों में 9वीं और 11वीं में करीब 5 लाख बच्चे फेल हुए जबकि 4.24 लाख बच्चों को दोबारा प्रवेश नहीं दिया गया। इन बच्चों को इसलिए केजरीवाल ने प्रवेश नहीं होने दिया कि वे कह रहे हैं कि ये बच्चे 10वीं में पास होने के लायक ही नहीं हैं। उन्होंने केजरीवाल के साफ जल देने वाले वादे पर तंज कसते हुए कहा कि दिल्ली की जनता बिना आरओ के पानी नहीं पी सकती है। पूरे देश में सबसे ज्यादा दूषित जल दिल्ली का है। 

उन्होंने 'आप' के मैनिफेस्टो पर वार करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री केजरीवाल ने एक बार फिरसे दिल्ली के अंदर अपने मैनिफेस्टो में जन लोकपाल बिल लाने का वादा किया है। यह वादा उन्होंने 2015 में भी किया था लेकिन पिछले पांच साल में जन लोकपाल बिल पर कोई कदम नहीं उठाया। अब एक बार फिरसे बोल रहे हैं हम जन लोकपाल बिल लाएंगे। उन्होंने कहा कि केजरीवाल ने 2015 में दिल्ली के अंदर 500 नए स्कूल खोलने का वादा किया था, जिसको आज तक नहीं पूरा किया, जबकि इस बारे के अपने मैनिफेस्टो से 500 नए स्कूल खोलने वाला वादा ही गोल कर दिया है। इस दौरान तिवारी ने वहां मौजूद जनता से  पूछा कि क्या आपके क्षेत्र में नया स्कूल और कॉलेज खुला? क्या वाई-फाई लगा? तिवारी के सवालों को उत्तर जनता ने न में दिया। 


हिन्दुस्थान समाचार/वीरेन 


 
Top