युगवार्ता

Blog single photo

क्या हल हो सकता है जम्मू-कश्मीर का

02/08/2019

क्या हल हो सकता है जम्मू-कश्मीर का

 कृष्णमोहन सिंह
मूल जम्मू-कश्मीर के 55 प्रतिशत भू-भाग पर पाकिस्तान व चीन का कब्जा है। सवाल यह है कि पाकिस्तान व चीन ने जम्मू-कश्मीर के जिस 55 प्रतिशत भू-भाग पर कब्जा कर रखा है उसे भारत कैसे वापस लेगा, क्योंकि जवाहरलाल नेहरू से लगायत मनमोहन सिंह तक के प्रधानमंत्री किसी तीसरे देश से मध्यस्थता कराने के पक्ष में नहीं रहे। ऐसे में एक ही रास्ता है, भारत और पाकिस्तान आपस में बैठकर इस समस्या का हल निकालें। पाकिस्तान ने ही जम्मू-कश्मीर के हिस्से की काफी जमीन चीन को दी है।
ऐसे में दो रास्ते बचते हैं। या तो भारत पाकिस्तान पर आक्रमण करके उससे अपनी जमीन वापस ले ले, या अमेरिका व कुछ अन्य महाशक्तिशाली देशों से दबाव बनवाकर पाकिस्तान व चीन से जमीन वापस ले। लेकिन परमाणु सम्पन्न पाकिस्तान पर आक्रमण करने से भारत की अर्थव्यवस्था रसातल में चली जायेगी, खुद भी तबाह हो जायेगा। और चीन पर आक्रमण करने की हैसियत में भारत है नहीं। अब एक ही रास्ता बचता है अमेरिका व अन्य शक्तिशाली देशों से दबाव बनवाकर जमीन वापस लेना। वैसे इसमें भी लाभ-हानि के बहुत कारक हैं। लेकिन बात करने से ही कोई रास्ता निकलेगा। कूटनीतिकों का मानना है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने इमरान से मोदी वाली बात यूं ही नहीं कही है। कुछ न कुछ चल रहा है जिसे ट्रम्प ने सार्वजनिक कर दिया। वैसे है तो बहुत कठिन, लेकिन यदि ट्रम्प पाकिस्तान पर दबाव बनाकर भारत को मूल जम्मूकश्मीर वाली 55 प्रतिशत जमीन वापस दिला दें, तो यह भारत की बड़ी उपलब्धि होगी।


 
Top