राष्ट्रीय

Blog single photo

स्टील इंडस्ट्री के लिए झारखंड तीर्थ स्थल, विद्यार्थी के नाते सीखने आया हूंः धर्मेंद्र प्रधान

13/08/2019

राजीव मिश्रा
रांची, 13 अगस्त (हि.स.)। पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस व इस्पात विभाग के केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि स्टील इंडस्ट्री के लिए झारखंड तीर्थ स्थल  है। बोकारो और जमशेदपुर के बिना इस्पात विभाग को समझना संभव नहीं है। टाटा स्टील एक लैब है। इस्पात मंत्री बनने के बाद मैं एक विद्यार्थी के रूप में यहां सीखने आया हूं और अपनी समझ बढ़ा रहा हूं। मंगलवार को वे जमशेदपुर के सोनारी एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। 

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुझे इस्पात विभाग की जिम्मेदारी सौंपी है। इसके बाद पहली बार झारखंड के दौरे पर आया हूं। पिछले तीन दिनों से बोकारो सहित चाईबासा के नोवामुंडी, किरीबुरू, गुवा, बोलानी जैसे सेल और टाटा स्टील के माइनिंग सेक्टर को देख रहा हूं।

भारत का विश्व में स्टील उद्योग में दूसरा स्थान
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश स्टील के क्षेत्र में आत्मनिर्भर हो चुका है। भारत का विश्व में स्टील उद्योग में दूसरा स्थान है। आज देश की अर्थनीति में स्टील मजबूत स्तंभ है। इसलिए मैं स्टील इंडस्ट्री के इको सिस्टम को समझने आया हूं। भविष्य में इस क्षेत्र की समस्या के अनुसार उसका समाधान भी किया जाएगा। 

सोनारी एयरपोर्ट पर केंद्रीय मंत्री की अगवानी के लिए टाटा स्टील के सीईओ सह एमडी टीवी नरेंद्रन, वाइस प्रेसिडेंट चाणक्य चौधरी, झारखंड सरकार के खाद्य मंत्री सरयू राय, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष दिनेशानंद गोस्वामी, खादी बोर्ड के सदस्य कुलवंत सिंह बंटी, प्रदेश प्रवक्ता राजेश कुमार शुक्ल, भाजपा जिलाध्यक्ष दिनेश कुमार, भाजयुमो जिलाध्यक्ष अमरजीत सिंह राजा, जिला महासचिव अनिल मोदी, पूर्व जिलाध्यक्ष नंदजी प्रसाद, देवेंद्र सिंह, जिला प्रवक्ता दीपक पारिख सहित बड़ी संख्या में भाजपा नेता उपस्थित थे। 

इसके अलावा उपायुक्त रविशंकर शुक्ला और एसएसपी अनूप बिरथरे ने भी गुलदस्ता देकर केंद्रीय मंत्री की अगवानी की।  

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top