राष्ट्रीय

Blog single photo

एनआईए के हत्थे चढ़ा बर्दवान ब्लास्ट का एक और कुख्यात आतंकी जहीरुल

13/08/2019

ओम प्रकाश
कोलकाता, 13 अगस्त (हि.स.)। पश्चिम बंगाल के बहुचर्चित बर्दवान ब्लास्ट मामले में एक और आतंकी जहीरुल शेख को दबोचने में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) सफल हुई है। वह मूल रूप से नदिया जिले के थानापाड़ा थाना अंतर्गत हैदरपाड़ा का निवासी है। दो अक्टूबर 2014 को बर्दवान के खगड़ागढ़ में हुए ब्लास्ट के बाद से वह फरार था। एजेंसियां लगातार उसकी तलाश में जुटी हुई थीं। उसे वांछित घोषित किया गया था। अब जाकर एनआईए की टीम ने उसे मध्यप्रदेश के इंदौर में एक गुप्त ठिकाने से गिरफ्तार किया है। मंगलवार को एनआईए की ओर से विज्ञप्ति जारी कर इस बारे में जानकारी दी गई है। 

बताया गया है कि जहीरुल शेख को आठ अगस्त को ही गिरफ्तार किया गया था। उसके बाद उसे इंदौर कोर्ट में पेश किया गया है जहां से ट्रांजिट रिमांड पर लेकर कोलकाता लाया जा रहा है। उसे बुधवार या गुरुवार को कोलकाता की विशेष एनआईए कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा। बर्दवान ब्लास्ट मामले में वह मुख्य साजिशकर्ताओं में शामिल रहा है। 23 जुलाई 2015 को इस मामले में दाखिल की गई चार्जशीट में उसे आरोपित बनाया गया है। उसके खिलाफ देशद्रोह और आतंकवाद की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर कानूनी कार्रवाई शुरू की गई थी। इस मामले में कुल 33 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल किया गया है। 

प्राथमिक जांच में पता चला है कि आरोपित जहीरुल शेख बांग्लादेश के प्रतिबंधित आतंकी संगठन जमात उल मुजाहिदीन बांग्लादेश (जेएमबी) का कुख्यात आतंकी है। आतंकी संगठन के नादिया मॉड्यूल का वह इंचार्ज भी था। जेएमबी द्वारा चलाए जाने वाले कई प्रशिक्षण शिविरों का उसने दौरा किया था और कई आतंकी वारदातों को अचूक तरीके से अंजाम देने के लिए प्रशिक्षण भी ले चुका था। 

दो अक्टूबर 2014 को जब खगड़ागढ़ में ब्लास्ट हुआ था तब इसकी जांच एनआईए को सौंप दी गई थी। बाद में पता चला था कि यहां से आतंकियों ने व्यापक आतंकी हमले की साजिश रची थी। न केवल भारत और पड़ोसी देश बल्कि पूरे दक्षिण एशिया प्रायद्वीप में आतंकी हमले की साजिशें यहां से रची गई थी। इसके लिए बड़ी मात्रा में विस्फोटक एकत्रित किए गए थे। वारदात के समय दो आतंकियों की मौत हो गई थी जबकि एक गंभीर रूप से घायल हुआ था। घटना के दौरान मौके पर कई आतंकी मौजूद थे जो वारदात के बाद फरार होने में सफल रहे थे। जहीरुल भी उनमें से एक था। उससे पूछताछ के बाद इस मामले में शामिल अन्य आतंकियों की गिरफ्तारी भी आसान हो जाएगी । 

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top