अयोध्या, 19 मार्च (हि.स.)। श्रीराम जन्मभूमि में भव्य एवं दिव्य राम मंदिर के निर्माण में श्रीलंका स्थित सीता एलिया के पत्थर का भी उपयोग किया जाएगा। मंदिर के नींव का कार्य अगस्त तक समाप्त कर लिया जाएगा। मंदिर निर्माण में सीता एलिया के पत्थर को श्रीलंका के उच्च अधिकारी मिलिंडा मोरागोड़ा द्वारा भारत लाया जाएगा। 

 पौराणिक मान्यताओं के अनुसार सीता एलिया श्रीलंका में स्थित है। जहां रावण ने माता सीता को बंदी बनाकर रखा था। माता सीता को सीता एलिया में एक वाटिका में रखा गया था। जिसे अशोक वाटिका कहते हैं। वर्तमान में इस स्थान पर एक मंदिर हैं। जिसे सीता अम्मन कोविले नाम से जाना जाता है। यह स्थान न्यूराएलिया से उदा घाटी तक जाने वाली एक मुख्य सड़क पर 5 मील की दूरी पर स्थित है। 

 श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट सूत्रों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार मंदिर निर्माण कार्य को 39 माह के भीतर तैयार कर लिया जाएगा। जिसमें राजस्थान से लाकर तराशे गए पत्थरों के साथ ही मिर्जापुर के पत्थर प्रमुख रूप से लगाए जाएंगे। 

हिन्दुस्थान समाचार/पवन


You Can Share It :